हैंडकर्ची

वॉली एक विशेष रुमाल था। उसका निर्माण नाक के मल साफ करने के लिए किया गया था, लेकिन उसकी एक बड़ी समस्या थी: स्वच्छता की बीमारी। हर बार जब भी वह किसी मल के पास आता, उसकी आंखों में आंसू भर आते और वह कंपन लगाता।

एक ठंडी सर्दी के दिन, वॉली मिस्टर स्नफ की पैंट की जेब में पहुंच गया, और साथ ही कई अन्य गंदे रुमालों के साथ। मिस्टर स्नफ ठंडे से थे और उनकी नाक एक टूटी हुई नल की तरह थी। वॉली को अच्छा नहीं लग रहा था। उसे साफ और ताजगी बनाए रखना था, लेकिन यहाँ वह बैठा था, स्नॉट और स्लाइम के बीच।

"मैं क्या करूँ?" वॉली ने पैंट की जेब में दूसरे रुमालों से कहा। "मुझसे वह सब नहीं होता!"

लेकिन अन्य रुमालों ने उसको हंसाया। "अरे, तुम खुद को नहीं ढंग से संभाल सकते," ओमा रुमाल ने कहा। "हमें मल संभालने के लिए बनाया गया है। यह तो हमारा काम है।"

वॉली मुँह झुका, लेकिन अंदर से वह बेहद दुखी महसूस कर रहा था। उसे गंदा नहीं होना था, क्योंकि उसे स्वच्छता की बीमारी थी। उसे साफ और गोरा रहना था। इसलिए उसने अपनी स्वच्छता की बीमारी को परास्त करने का निर्णय लिया।

हर बार जब मिस्टर स्नफ अपनी नाक साफ करते, वॉली अपनी साँसें रोक लेता। वह मल को साफ करता और खुद को ध्यानपूर्वक समेट लेता। वह फूलों के मैदानों और साफ पहाड़ी नदियों को सोचता था, ताकि उसके मन में उस सारे मल के बारे में ध्यान न रहे।

एक दिन कुछ विशेष हुआ। मिस्टर स्नफ वॉली को उनकी पैंट की जेब से बाहर निकाल कर उसे देखते हुए बोले, "तुम एक निष्ठावान रुमाल हो। हमेशा साफ और सुव्यवस्थित।"

वॉली गर्व से चमक रहा था। उसने स्वीकार किया कि वह एक रुमाल है और इसलिए मल को साफ करने के लिए बनाया गया है। लेकिन वह सिर्फ मल को संभालने में ही अच्छा नहीं था, बल्कि अपनी खुद की पवित्रता को बनाए रखने में भी।

और इसी तरह वॉली लंबे समय तक सुखी और खुश रहा, कभी भी स्नॉट से डरने की कोई आवश्यकता नहीं थी। उसने समझा कि कभी-कभी अंदर से साफ होना बाहर से साफ होने से अधिक महत्वपूर्ण होता है।