चिंटू चूहा

एक छोटा सा चूहा जिसका नाम चिंटू था, एक बड़े घर में अपनी माँ, पिता, और अपने भाइयों और बहनों के साथ रहता था। चिंटू एक रोमांचक दुनिया का अन्वेषण करना पसंद करता था। लेकिन उसके माता-पिता हमेशा उसे घर के लूचे में ढकेलने की चेतावनी देते थे। विशेष रूप से इंसान के खतरों के लिए, जो चूहों का बड़ा शत्रु था।

एक दिन, जब चिंटू अकेले था, तो उसने एक प्याले में रखे एक स्वादिष्ट टुकड़ा पनीर देखा। उसने उसे जल्दी से पकड़ा और उसकी ओर दौड़ा। लेकिन उसने इसे समझने से पहले ही, एक जाल उस पर गिरा दिया। चिंटू फंस गया था!

उसने डर से चीखना शुरू कर दिया।

कुछ समय बाद, उसने पांव की आवाज़ सुनी। वह इंसान था, जो जाल को उठाकर बाहर ले गया। चिंटू को लगा कि वह उसे मार देगा।

चिंटू ने अपनी आंखें बंद कर ली और सबसे बड़े खतरे का इंतजार करने लगा। लेकिन अचानक उसने एक हल्का हवा का झोंका महसूस किया और पक्षियों की चहचहाहट सुनी। इंसान ने उसे मारा नहीं, बल्कि न्यूचर में छोड़ दिया था!

चिंटू ने अपनी आंखें खोली और देखा कि वह एक खूबसूरत जंगल में था। उसने फूल, पेड़, तितलियाँ और अन्य जानवरों को देखा। उसने फ्रेश हवा को सुंदर ध्वनि और गरम सूर्य को महसूस किया। वह अपनी खुशी से उछल पड़ा। वह अन्य चूहों से मिला, जो उसे दोस्ताना स्वागत करते थे। उन्होंने उसे अपने साथ रहने के लिए आमंत्रित किया।

चिंटू ने नए दोस्तों बनाने पर खुश होता था, लेकिन वह

अपने परिवार को अभी भी याद करता था। उसने सोचा कि क्या वह उन्हें कभी फिर से देख पाएगा। उसने एक नोट लिखने का निर्णय किया और उसे एक पक्षी को देने का निर्णय किया, जो उसे अपने घर ले जाएगा।

उसने लिखा:

"प्यारी मम्मी, पापा, भाई और बहन,

मैं एक जाल में फंस गया था और इंसान ने मुझे ले जाया था। लेकिन उसने मुझे मारा नहीं, बल्कि एक खूबसूरत जंगल में छोड़ दिया था। मेरे यहां बहुत सारे नए दोस्त हैं, जो मेरे लिए बहुत प्यारे हैं। लेकिन मुझे तुम्हें बहुत याद कर रहा हूँ और आशा है कि तुम मुझे ढूंढ़ोगे। मैं बड़े देवदार के पास तुम्हारा इंतजार कर रहा हूँ।

बहुत सारा प्यार,

चिंटू"

उसने नोट को एक पक्षी को दिया, जिसने वादा किया कि वह इसे पहुंचाएगा। उसने पक्षी को धन्यवाद कहा और अपने नए दोस्तों के पास वापस चला गया।

कुछ दिनों बाद, जब चिंटू खेल रहा था, तो अचानक उसने पहचानी आवाज़ें सुनीं। वह उचके और अपनी माँ, पापा, भाई और बहन को देखा। वे उसे ढूंढ़ने आए थे!

चिंटू बहुत खुश था और उनके पास दौड़ा। उसने उन्हें सभी को गले लगाया और एक चुम्बन दिया। उसने उन्हें सब कुछ बताया जो उसने महसूस किया और अपने नए दोस्तों को परिचित किया। उसका परिवार खुश था कि वह सुरक्षित है और उसे मज़ा आ रहा है।

उन्होंने एक साथ जंगल में रहने का निर्णय किया, जहां उन्होंने एक नया घर बनाया।

वे कभी इतने खुश नहीं थे!